सोमवार, 19 मार्च 2012

!! जाति ब्यवस्था सभी धर्मो में है !!

ऐसा माना जाता है कि जाति व्यवस्था केबल हिन्दुओँ मेँ पायी जाती है ।जबकि भेदभाब,छुआछुत .जाति ,संप्रदाय हर प्रमुख धर्मोँ मेँ मिलता है ।

#क्रिश्चन मेँ बहुत सारे छोटे बडे चर्च होते हैँ जहाँ छोटे चर्च मेँ जाने बालौँ को बडे चर्च मेँ जाने कि मनाहि होती है और सबकी पुजा पद्धति मान्यताओँ मेँ अंतर पाया जाता है ।
http://en.m.wikipedia.org/wiki/List_of_Christian_denominations

... #मुस्लिमोँ मेँ जाति व्यबस्था जो प्रमुखतः अशरफ ,अजलफ ,अरजल जातिओँ मेँ बंटा है जिसकी अनेक उपजातियां हैँ।
http://m.facebook.com/note.php?note_id=347461641965768&refid=22&_rdr#356847261027206
http://en.m.wikipedia.org/w/index.php?title=List_of_Muslim_Other_Backward_Classes_communities&mobileaction=view_normal_site

# सिखोँ मेँ जाति व्यबस्था
हिन्दुओँ कि तरह 4 वर्णोँ मेँ बंटा हुआ है ।
http://www.sikhcastes.faithweb.com/whats_new.html

#बौद्धोँ कि जाति व्यबस्था जो प्रमुखतः 3 प्रमुख संप्रदायोँ महायान ,हीनयान और वज्रयान मेँ बंटा हुआ है जिसका सैँकडोँ स्कुल है जो अलग अलग पुजा पद्धतिओँ और मान्याताओँ को मानता है ।
http://m.facebook.com/note.php?note_id=333913793320553&refid=21

1 टिप्पणी:

  1. यह ब्लॉग मेरे फेसबुक मित्र संदीप अग्रवाल जी द्वारा प्रेषित किया गया है ....

    उत्तर देंहटाएं